Tuesday, 15 November 2011

ग्रीन टी पिओ लंबी उम्र जिओ


ग्रीन टी पिओ लंबी उम्र जिओ
चाय दुनिया में पानी के बाद सबसे ज्यादा पिए जाने वाला पेय है। दुनिया में प्रतिवर्ष 2.5 बिलियन पाउंड चाय का उत्पादन होता है। ग्रीट टी औषधीय गुणों से भरपूर चाय है, जिसका चलन चीन और जापान में ज्यादा है, पर अपने गुणों के कारण धीरे-धीरे पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रही है। विशेषज्ञों के अनुसार दिन में दो कप ग्रीन टी फायदेमंद है। पर हां इसे बिना दूध डाले ही पिएं, क्योंकि दूध इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण को कम कर देता है।
कैंसरकारक तत्वों का खात्मा

ग्रीन टी थीएसी फैमिली के कैमिलिया जाति के पौधे की पत्तियों से तैयार की जाती है। पौधे की सबसे ताजी और कोमल पत्तियों को एकत्र किया जाता है। फिर उसे भाप देकर, रोल करके, सुखा लिया जाता है। ब्लैक टी की तरह इसका फरमेनटेशन नहीं किया जाता है। इसमें कैटीकिन, कैफीन, थीआनिन और कई तरह के विटामिंस होते हैं। कैटीकिन एक महžवपूर्ण एंटीआक्सीडेंट है, जो ग्रीन टी में सर्वाधिक 120,000 यूनिट/ग्राम पाया जाता है।

न्यूयार्क के प्रसिद्ध कैंसर विशेषज्ञ डॉ. मिशेल गेनोर कहते हैं, "ग्रीन टी के सेवन से कैंसर की काफी हद तक रोकथाम होती है। इसमें पाया जाने वाला कैटीकिन कैंसरकारक तžवों को नष्ट करता है।"

ग्रीन टी से फायदे
विभिन्न तरह के कैंसर से बचाव करती है।
इसमें पाया जाने वाला कैटीकिन शरीर की चर्बी को कम कर मोटापा घटाता है।
रक्त में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कंट्रोल करती है।
डायबिटीज पर नियंत्रण रखती है।
उच्च रक्तचाप को घटाती है।
हार्ट अटैक और ब्ा्रेन स्ट्रोक से बचाती है।
इसके एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण रोगों से शरीर की रक्षा करती है।
याददाश्त बढ़ाती है, बढ़ती उम्र में होने वाले मैमोरी लॉस को रोकती है।
जोड़ों के दर्द में फायदेमंद है।
आंखों में होने वाले ग्लूकोमा को रोकती है।
एंटी-ऎजिंग है। बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करती है।
इसका गरारा इंफ्लूएंजा से बचाता है।

टॉक्सिन को बाहर निकालती है
ग्रीन टी शरीर से टॉक्सिन बाहर निकालती है। खाली पेट बिना दूध और शक्कर के इसका सेवन करने से लाभ पहुंचता है।
-वैद्य रमेश कुमार शर्मा, ह्वदय रोग विशेषज्ञ, आयुर्वेदाचार्य

-इरा टाक

2 comments: