Friday, 25 April 2014

मैं अब उसकी वाल पर नहीं जाता ...Poetry by Era Tak (c)


मैं अब उसकी वाल पर नहीं जाता
क्यूंकि वो मेरी वाल पर नहीं आता....
नज़र तो रखें हैं ...हर नोटिफिकेशन पर
पर उसका लाइक- कमेंट नहीं आता
लेकिन इन बातों से 
ताल्‍लुक मर नहीं जाता
अब हो तो रहो फ्रैंडलिस्ट में
जुदा तुम्हे किया नहीं जाता
फेसबुक के रिश्ते फेसबुक पर ही रहने देता हूँ
मैं इन्हे Whatsapp तक लेकर नहीं जाता ...A Poetry by Era Tak (c) copyright ~ET~
...A Poetry by Era Tak (c) copyright ~ET~

No comments:

Post a Comment